Desi Tarka


 


HomeHome PageFAQRegisterLog in


Please click on above and below advertisement to help us to survive.


Share | 
 

 न कर इतना शर्मिंदा

View previous topic View next topic Go down 
AuthorMessage
ramu.garg
Gold Member
Gold Member
avatar

Posts : 73
Points : 336
Reputation : 0
Join date : 2009-01-01
Age : 29
Location : Panipat India
Warning :
0 / 1000 / 100


PostSubject: न कर इतना शर्मिंदा   Sun Jul 19, 2009 6:54 pm



ऐसा वादा न कर मुझसे की तू निभा न सके,
इतना दूर न जा की कभी मुझ पे हक़ जता न सके,

गलत्फमियों से न लगा नफरत की आग,
की चाह कर भी तू बुझा न सके,

न खीच दिल के आईने पे कुछ ऐसी रेखाएं जो चेहरा बदल दे,
की अपनी ही सूरत तू धडकनों को कभी दिखा न सके,

न बांध ज़माने के रिश्तों में मासूम प्यार को तू आज,
की कल खुदा सी मोहब्बत के जस्बातों को तू कुछ समझा न सके,

है दम तेरी नफरत में तो छोड़ दे तस्बूर में भी मेरा ख्याल,
कहीं ऐसा न हो एक पल के लिए भी तेरी साँसे मुझे भुला न सके,

नामो निशा भी न छोड़ तू मेरी किसी निशानी का अपने पास,
लेकिन वक़्त के हाथ तेरे चेहरे से मेरे प्यार का निशा मिटा न सके,

सजा दिया नए रिश्तो की रौशनी ने मन तेरा जीवन,
पर यादों के लम्हों की दाल से ये मेरा नाम हाथ न सके,

इंसा से लेके खुदा तक सबने जिसे मिटाना चाहा
ऐसी मोहब्बत को भुलाने के लिए हम खुद को मन न सके,

न कर इतना शर्मिंदा मेरी मोहब्बत को आज,
की कल तू इस इश्क को अपने दिलके महल में सजा न
सके.

!! re love !!


Back to top Go down
View user profile http://www.groups.yahoo.com/group/dilkikahani/
Romeo.Bagga
AdminiStrator
AdminiStrator
avatar

Posts : 651
Points : 1975
Reputation : 26
Join date : 2008-10-08
Age : 34
Location : Ludhiana, Punjab, India
Warning :
0 / 1000 / 100


PostSubject: Re: न कर इतना शर्मिंदा   Mon Jul 20, 2009 2:38 pm

Amazing Ramu
Back to top Go down
View user profile http://desitarka.crazy4us.com
govind715
New Member
 New Member
avatar

Posts : 1
Points : 1
Reputation : 0
Join date : 2009-07-23
Warning :
0 / 1000 / 100


PostSubject: Re: न कर इतना शर्मिंदा   Thu Jul 23, 2009 8:21 pm

ऐसा वादा न कर मुझसे की तू निभा न सके,
इतना दूर न जा की कभी मुझ पे हक़ जता न सके,

गलत्फमियों से न लगा नफरत की आग,
की चाह कर भी तू बुझा न सके,

न खीच दिल के आईने पे कुछ ऐसी रेखाएं जो चेहरा बदल दे,
की अपनी ही सूरत तू धडकनों को कभी दिखा न सके,

न बांध ज़माने के रिश्तों में मासूम प्यार को तू आज,
की कल खुदा सी मोहब्बत के जस्बातों को तू कुछ समझा न सके,

है दम तेरी नफरत में तो छोड़ दे तस्बूर में भी मेरा ख्याल,
कहीं ऐसा न हो एक पल के लिए भी तेरी साँसे मुझे भुला न सके,

नामो निशा भी न छोड़ तू मेरी किसी निशानी का अपने पास,
लेकिन वक़्त के हाथ तेरे चेहरे से मेरे प्यार का निशा मिटा न सके,

सजा दिया नए रिश्तो की रौशनी ने मन तेरा जीवन,
पर यादों के लम्हों की दाल से ये मेरा नाम हाथ न सके,

इंसा से लेके खुदा तक सबने जिसे मिटाना चाहा
ऐसी मोहब्बत को भुलाने के लिए हम खुद को मन न सके,

न कर इतना शर्मिंदा मेरी मोहब्बत को आज,
की कल तू इस इश्क को अपने दिलके महल में सजा न
सके.

!! re love !!
Back to top Go down
View user profile
Sunny Kumar
Staff
Staff
avatar

Posts : 192
Points : 657
Reputation : 7
Join date : 2008-12-22
Age : 35
Warning :
0 / 1000 / 100


PostSubject: Re: न कर इतना शर्मिंदा   Thu Jul 23, 2009 8:24 pm

nice reply govind
Back to top Go down
View user profile http://desitarka.crazy4us.com
Sponsored content




PostSubject: Re: न कर इतना शर्मिंदा   

Back to top Go down
 
न कर इतना शर्मिंदा
View previous topic View next topic Back to top 
Page 1 of 1

Permissions in this forum:You cannot reply to topics in this forum
Desi Tarka :: Desi Tarka Exclusive Member's Zone :: RELOVE Shayari World-
Jump to: